1 मार्च : भारत ने हॉकी विश्व कप के पहले मैच में पाकिस्तान को धूल चटाई

इसी दिन दुनिया का पहला हाइड्रोजन बम परीक्षण किया गया।इतिहास में साल का हर दिन किसी अच्छी या बुरी घटना के साथ दर्ज है. एक मार्च साल के तीसरे महीने का पहला दिन है और यह दुनिया में पहले हाइड्रोजन बम के परीक्षण के दिन के तौर पर इतिहास में दर्ज है. एक मार्च 1954 को अमेरिका ने हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया और यह मानव इतिहास में उस समय तक का सबसे बड़ा विस्फोट था. इसकी ताकत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ये हिरोशिमा को नष्ट करने वाले परमाणु बम से हज़ार गुना ज़्यादा शक्तिशाली था.प्रशांत क्षेत्र में स्थित मार्शल द्वीपों के बिकिनी द्वीपसमूह में किए गए इस विस्फोट के प्रभाव का आकलन करने वाले यंत्र भी इसकी तीव्रता को मापने में असफल रहे और यह बम वैज्ञानिकों के आकलन से भी कहीं ज्यादा शक्तिशाली था.

इसके अलावा 1 मार्च के दिन ही साल 1775 में अंग्रेज हुकूमत और नाना फड़नवीस के बीच पुरंधर की संधि पर हस्ताक्षर किए गए।1 मार्च का दिन की प्रमुख घटनाएं जैसे महात्मा गांधी ने राॅलेट एक्ट के खिलाफ सत्याग्रह शुरु करने की घोषणा की और नयी दिल्ली-कोलकाता के बीच पहली राजधानी ट्रेन की शुरूआत हुई ।

साल 1896 में पहली मार्च के दिन वैज्ञानिक ऑनरी बेकेरल के एक प्रयोग के कारण रेडियोधर्मिता क्या होती है, इसका पहली बार पता चला.उन्होंने फोटोग्राफिक प्लेट को काले कागज में लपेटा और फिर अंधेरे में चमकने वाले फॉस्फोरेसेंट सॉल्ट को उस पर डाला. फिर यूरेनियम सॉल्ट का इस्तेमाल करते ही प्लेट काली होने लगी. इन रेडिएशन को बेकेरल किरणें कहा गया.

जल्द ही साफ हो गया कि प्लेट का काला होना फॉस्फोरेसेंट से नहीं जुड़ा है क्योंकि प्लेट काली तब हुई जब वह अंधेरे में रखी गई थी. यह भी समझ में आ रहा था कि किसी तरह का रेडिएशन हो है जो कागज को पार कर सकता है और प्लेट को काला कर सकता है. 1895 में विल्हेम रोएंटगेन ने एक्सरे का शोध कर लिया था.

लेकिन फिर भी बेकेरल ने सोचा कि वह इन फोटोग्राफिक प्लेटों को डेवलप करेंगे. और उन्होंने पाया कि तस्वीरें फिर भी एकदम साफ हैं. इससे ये पता चला कि बिना किसी बाहरी ऊर्जा के यूरेनियम ने रेडिएशन छोड़ा. यही थी, रेडियोधर्मिता की पहली जानकारी.

फिर उन्होंने एक और प्रयोग के जरिए बताया कि जो रेडिएशन उन्होंने ढूंढा वह एक्सरे नहीं है. एक्सरे न्यूट्रल होती हैं और चुंबकीय क्षेत्र में रखने पर वो मुड़ती नहीं. लेकिन ये किरणें मुड़ गईं.

बेकेरल 1852 में पेरिस में पैदा हुए. रेडियोधर्मिता की खोज करने के लिए उन्हें 1903 में मेरी और पियरे क्यूरी के साथ भौतिकी का नोबेल पुरस्कार दिया गया.

1 मार्च के दिन ही भारत की मशहूर मुक्केबाज मैरीकॉम, बिहार के लोकप्रिय राजनेता नीतिश कुमार समेत तमाम बड़ी हस्तियों ने जन्म लिया और दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई। इसके अलावा इसी दिन कई मशहूर लोग इस दुनिया को अलविदा भी कह गए। 1 मार्च के सभी महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में हम आपको नीचे बता रहे हैं –

  • वैज्ञानिक ऑनरी बेकेरल के एक प्रयोग के कारण रेडियोधर्मिता क्या होती है, इसका 1896 में पहली बार पता चला।
  • दुनिया के पहले येलोस्टोन राष्ट्रीय उद्यान की 1872 में स्थापना हुई थी।
  • चीन 1914 में यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन का सदस्य बना था।
  • जापानी साम्राज्यवाद के खिलाफ कोरिया में 1919 में आज ही के दिन मार्च के आंदोलन की शुरुआत।
  • ग्रीक ने 1923 से ग्रेगोरीयन कैलेंडर अपनाया।
  • भारतीय वैज्ञानिक सी. वी. रमन जी ने 1928 में प्रकाश के विवर्तन का अपना शोध दुनिया के सामने पेश किया था।
  • अंतर्राष्ट्रीय निगराणी कोष ने 1947 में कार्य आरंभ किया।
  • अमेरिका ने 1954 में बिकिनी द्वीप-समूह में हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया था।
  • ब्रितानी वित्त मंत्री जेम्स कैलाहन ने 1966 में ब्रितानी मुद्रा व्यवस्था में परिवर्तन की घोषणा की।
  • इंटरनेट के सबसे लोकप्रिय सर्च इंजन्स में से एक सर्च इंजन याहू की 1995 में शुरुआत हुई थी।
  • अमेरिकी राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश 2006 में राजकीय यात्रा पर भारत पहुँचे।
  • राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने 2009 में चावला को अगले मुख्य चुनाव आयुक्त बनाने की घोषणा की।
  • भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने 1 मार्च 2010 को अपनी सऊदी अरब यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच प्रत्यर्पण संधि की। इसके साथही विज्ञान-तकनीक और व्यापार समेत कई क्षेत्रों में 10 हस्ताक्षर किए।
  • भारत ने 1 मार्च 2010 के दिन ही हॉकी विश्व कप के पहले मैच में पाकिस्तान को हार की धूल चटाई। भारत ने पाक को इस मैच में 4-1 से हराया।
  • मलेशिया सरकार और विद्रोहियों के बीच 1 मार्च साल 2010 में कड़ा संघर्ष हुआ, जिसमें करीब 14 लोगों की मौत हो गई।
  • चीन के कुनमिंग रेलवे स्टेशन में 1 मार्च साल 2014 में कुछ आतंकवादियों ने चाकू से हमला कर 29 लोगों की जान ले ली।

1 मार्च को जन्मे व्यक्ति

1 मार्च के दिन भारतीय महिला मुक्केबाज मैरीकॉम समेत तमाम मशहूर शख्सियत ने जन्म लिया, जिनके बारे में हम आपको नीचे बता रहे हैं –

  • 1 मार्च 1919 में भारतीय अर्थशास्त्री पृथ्वी नाथ धर का जन्म हुआ था।
  • 1 मार्च 1930 में भारत के मशहूर उद्योगपति राम प्रसाद गोएंका का जन्म हुआ था।
  • 1 मार्च 1942 में लेखक रमेश उपाध्याय का जन्म हुआ था।
  • 1951 में बिहार के वर्तमान मुख्यमंत्री और लोकप्रिय नेता नीतीश कुमार जी का जन्म हुआ था।
  • 1968 में भारतीय क्रिकेटर और टीवी अभिनेता सलिल अंकोला का जन्म।
  • 1968 में भारतीय महिला भारोत्तोलक खिलाड़ी कुंजारानी देवी का जन्म।
  • 1983 में ओलंपिक और कॉमनवेल्थ गेम्स में महिला मुक्केबाजी के लिए पदक जीतने वाले पहली महिला बॉक्सर एमसी मैरीकॉम जी का जन्म हुआ था।

1 मार्च को हुए निधन

1 मार्च के दिन ही कई दिग्गज लोग इस दुनिया को अलविदा कह गए जिनके बारे में हम आपको नीचे बता रहे हैं –

  • 1914 में भारत का वाइसराय तथा गवर्नर-जनरल लॉर्ड मिण्टो द्वितीय का निधन।
  • 1917 में पंजाबी, हिंदी और उर्दू भाषाओं में लिखने वाले प्रसिद्ध साहित्यकारक करतार सिंह दुग्गल का निधन।
  • 1989 में भारतीय राजनीतिज्ञ वसन्तदादा पाटिल का निधन।
  • 1988 में हिन्दी के प्रसिद्ध कवि सोहन लाल द्विवेदी का निधन।
  • गुजराती भाषा के प्रसिद्ध हास्य लेखक तारक मेहता जी का 2017 में 87 वर्ष की आयु में निधन हो गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query