30 साल के इंतजार के बाद मिली ‘जन्नत’

दक्षिण जॉर्जिया के सैलिसबरी प्लेन में उनका ग्रुप 1.2 लाख पेंग्विन की कॉलोनी को देखने के लिए रुका था। इस दौरान बड़ा सा स्वार्म उनकी ओर आता दिखा। इसमें एक अनोखे जीव ने ऐडम्स का ध्यान अपनी ओर खींचा। उन्होंने फौरन इस जीव की तस्वीर ली जो शायद पहली बार देखा गया है। ऐडम्स बताते हैं कि वह 30 साल से दक्षिण जॉर्जिया जाने का सपना देखते थे, जब से उन्होंने सर डेविड अटनबरो की डॉक्युमेंटरी में इन पेंग्विन्स को देखा था। उन्होंने बताया कि पीला पेंग्विन देखने से पहले भी यह एक बेमिसाल ट्रिप थी। विशाल महासागर के बीच एक चट्टान पर हजारों पेंग्विन्स को देखना बहुत अद्भुत था। उन्होंने कहा कि ऐसा लगा जैसे सामने जन्नत उतर आई हो।

सब काले तो यह पीला क्यों?

ऐडम्स के मुताबिक लाखों पेंग्विन्स के बीच में सिर्फ यही अकेला ऐसा था। बाकी सब आम सफेद और काले रंग के थे। ऐडम्स का कहना है कि ऐसा कलर शायद Leucism से हुआ है। यह एक तरह का म्यूटेशन होता है जिसकी वजह से पंखों में मेलनिन (melanin) बनता नहीं है। इसकी वजह से सफेद, पीले या चकत्तेदार रंग देखे जाते हैं। इसकी वजह से ऐसे पेंग्विन भी हो सकते हैं जो पूरी तरह सफेद हों।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query