निरीक्षण के पश्चात कार्यालय के क्रियाकलापों के लायें सुधार अन्यथा होगी कार्रवाईः उपायुक्त

देवघर : उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने प्रखण्ड विकास कार्यालय व अंचल कार्यालय, देवघर का निरीक्षण कर कार्यालय कर्मियों व कार्यालय के क्रियाकलापों से अवगत हुए। इस दौरान उपायुक्त द्वारा प्रखण्ड विकास कार्यालय व अंचल कार्यालय, देवघर द्वारा किये जा रहे कार्यों एवं अभिलेखों के संधारण की गहन समीक्षा कर सभी लिपिकों को विभिन्न पंजियों के साथ रोकड़ पंजी, आगत-निर्गत से लेकर कार्यालय के सभी अभिलेखों को संधारित करने के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी। निरीक्षण के क्रम में उन्होंने प्रखण्ड विकास कार्यालय व अंचल कार्यालय, देवघर के अधिकारियों एवं कर्मियों को कार्य संस्कृति में सुधार लाने के साथ कार्य एवं अपने दायित्व का निर्वहन पूरी ईमानदारी पूर्वक करने का निर्देश दिया।
इसके अलावे उपायुक्त द्वारा मनरेगा के तहत किये जा रहे विभिन्न कार्यों के अलावा, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत चल रहे कार्यों व प्रथम, द्वितीय किस्त देने की प्रक्रिया को लेकर संबंधित अधिकारियों व कर्मियों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया गया। साथ हीं उपायुक्त ने प्रखण्ड व अंचल कार्यालय से जुड़े फाईलों का गहन अध्ययन कर संबंधित अधिकारी व कर्मियों को निदेशित किया कि संचिका संचयन संख्या के साथ फाईलों के रख-रखाव पर विशेष ध्यान देते हुए सभी जरूरी दस्तावेजों को सुरक्षित तरीके से रखा जाय। इसके अलावे उन्होंने प्रखण्ड विकास पदाधिकारी व प्रभारी अंचलाधिकारी को निर्देशित किया कि वे कार्यपालिका तैयार करें एवं नियमित रूप से कार्यालय में संधारित पंजियों, अभिलेखों का अवलोकन करें, ताकि सभी अभिलेखों के संधारण में कोई कमी नहीं रहे।
निरीक्षण के क्रम में उपयुक्त ने विभाग के सामान्य व्यवस्थाओं के अतिरिक्त जन शिकायत से संबंधित मामलों के निष्पादन की स्थिति की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि कार्यालय कर्मियों के कार्यों का बंटवारा सही तरीकें से करें, ताकि कोई भी कार्य लंबित न रहे।
इसके अलावा उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने कार्यालय निरीक्षण के क्रम में कर्मचारियों की उपस्थिति व उपस्थिति पंजी की स्थिति से अवगत हुए। साथ हीं विभिन्न कमरों में रखी फाईलों के बारे में पूछताछ कर उन्होंने कहा कि सभी फाईलों का एक रिकाॅड बना लिया जाय, ताकि उन्हें ढूंढने में आसानी हो।
निरीक्षण के पश्चात कार्यालय के क्रियाकलापों के लायें सुधार अन्यथा होगी कार्रवाईः उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री …..
निरीक्षण के पश्चात उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने संबंधित अधिकारियों को निदेशित किया कि समय-समय पर अपने आधीन कर्मियों व पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक का आयोजन कर व्यवस्थाओं व कर्मियों के कार्यशैली को दुरूस्त करें।
ट्रेंच कम बांड (गढढे और बांध) पद्धति से जल संचयन के प्रति ग्रामिणों को करें जागरूकः-उपायुक्त….
इसके अलावे प्रखण्ड कार्यालय के सभागार में बैठक करते हुए उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने पंचायत सचिव, रोजगार सेवक, जनसेवक, कनीय अभियंता, को निदेशित करते हुए कहा कि नरेगा के तहत ट्रेंच कम बांड (गढढे और बांध) पद्धति से ग्रामीण क्षेत्रों में जल संचयन करने की विधि से लोगों को अवगत करायें। साथ हीं इस संबंध में किये जाने वाले कार्यों की विस्तृत जानकारी सभी को उपायुक्त द्वारा दी गयी, ताकि ग्रामीण क्षेत्र के लोग आसानी से वर्षा जल संचयन अपने खेतों में कर सकेंगे। जल संरक्षण वर्तमान समय की मांग ही नहीं जरूरत भी है और अगर हमने इस विषय को गंभीरता से नहीं लिया, तो वह दिन दूर नहीं जब हमें पीने का पानी भी बड़ी मुश्किल से मिलेगा। जल के बहुत से स्रोतों में से वर्षा जल एक मुख्य स्त्रोत है तथा इसके संरक्षण को वर्षा जल संचयन कहा जाता है। वर्षा जल संचयन को ही वर्षा जल संग्रहण या रेन वाटर हार्वेस्टिंग कहा जाता है। वर्षा जल संचयन एक सरल तकनीक है जो कि बहुत लाभकारी है और इसमें बहुत कम लागत लगती है। वर्षा के जल का अधिक से अधिक संचयन करके ही हम जल की समस्या से निजात पा सकते हैं।
साथ हीं बैठक के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री द्वारा प्रखण्ड विकास पदाधिकारी व संबंधित अधिकारियों व कर्मियों को निदेशित किया कि प्राथमिकता के आधार पर प्रयास करें कि अपने-अपने प्रखण्डो में एक भी वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन व दिव्यांग पेंशन के लाभ से वंचित न रहे। साथ हीं पंचायत सचिव अपने स्तर से कार्य करें कि पेंशन सर्वे में छुटे हुए लोगों को सूची से जोड़ने के अलावा किनका आवेदन स्वीकृत हुआ किनका स्वीकृत नहीं हुआ है एवं किनका आवेदन प्राप्त किया है। ऐसे लोगों की सूची को तैयार रखें, ताकि जरूरतमंद लोगों की पेंशन से जुड़ी सूची अद्यतन रहें और प्राथमिकता के आधार पर लाभुकों को पेंशन के लाभ से जोड़ा जा सके।
गलत तरीके से बनाये गये राशन कार्ड को रद्द कर असहाय व गरीब परिवारों को निर्गत किया जायेगा राशन कार्डः-उपायुक्त….
इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त ने प्रखण्ड विकास पदाधिकारी व संबंधित अधिकारी को निदेशित किया कि वैसे सम्पन्न परिवार जिन्हें किसी प्रकार की कमी नहीं है, वैसे लोग को सघन अभियान चलाकर चिन्ह्ति करें। साथ हीं लोगों को जागरूक करें कि यदि किसी व्यक्ति के द्वारा गलत तरीके से धोखाधड़ी कर राशन कार्ड निर्गत करा लिया गया है तो वे अपना राशन कार्ड प्रत्यार्पित कर दें अन्यथा उनके विरूद्ध विधिसम्मत शख्त कार्रवाई की जायेगी। वहीं सघन अभियान के माध्यम से चिन्ह्ति व्यक्तियों के विरूद्ध कार्रवाई करते हुए अनाज की वसूली 10 प्रतिशत ब्याज के साथ करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query