घर में बिखरे जूते−चप्पल से रहते हैं परेशान

घर में अगर कोई चीज सबसे ज्यादा बिखरी हुई नजर आती है तो वह है जूते−चप्पल। दरअसल, इन दिनों लोग सिर्फ अपने कपड़ों को ही नहीं, बल्कि फुटवियर को लेकर भी काफी कॉन्शियस हो गए है। यही कारण है कि लोगों के पास कपड़ों के साथ−साथ फुटवियर का भी एक बड़ा कलेक्शन होता है। हालांकि सबसे ज्यादा समस्या होती है उन्हें आर्गेनाइज करने की। एक बार किसी फुटवियर को पहनने के बाद लोग उन्हें यूं ही उतार कर इधर−उधर रख देते हैं। लेकिन ऐसा करने से पूरे घर में जूते−चप्पल फैले हुए नजर आते हैं और इस तरह घर भी काफी गंदा लगता है। होम इंटीरियर एक्सपर्ट्स का मानना है कि जूते−चप्पल को आर्गेनाइज करने के लिए जरूरी नहीं है कि आप मार्केट से शू रैक ही खरीदें। ऐसे अन्य कई तरीके हैं, जिनकी मदद से फुटवियर को आर्गेनाइज किया जा सकता है और इससे वह देखने में भी अच्छे लगते हैं−

रेलिंग का लें सहाराएक्सपर्ट्स के अनुसार, यह एक बेहद ही सस्ता व बढि़या तरीका है जूते−चप्पल को आर्गेनाइज करने का। इसके लिए आप अपने घर के एंटेस पर साइड में एक रेलिंग लगवाएं। इसके बाद आप अपने बाहर से आने के बाद अपने फुटवियर को उसमें टांगे। इस तरह रोजाना के फुटवियर को मैनेज करने का यह अच्छा आईडिया है।
अंडरबेड आर्गेनाइजरफुटवियर को आर्गेनाइज करने का यह आईडिया उन घरों में ज्यादा काम आता है, जहां पर स्पेस कम है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, आजकल मार्केट में अंडर बेड शू आर्गेनाइजर काफी सस्ते दामों में मिलते हैं। ऐसे में आप उनमें कभी−कभी इस्तेमाल होने वाले फुटवियर को आसानी से रख सकते हैं। यह घर में स्पेस भी काफी कम घेरते हैं।

शू हैंगिंग आर्गेनाइजरअगर आपको फुटवियर के कलेक्शवन का शौक है तो ऐसे में कम स्पेस में जूतों को आर्गेनाइज करने का यह एक बेहतरीन तरीका है। इसके लिए आप हैंगिंग शू आर्गेनाइजर खरीदें और उसके अपने स्टोर रूम में हुक लगाकर वहां पर टांगे। एक्सपर्ट्स के अनुसार, हैंगिंग शू आर्गेनाइजर की खासियत यह है कि यह स्पेस तो कम घेरता है, लेकिन इसमें आप एक साथ कई जोड़ी जूते−चप्पल बेहद आसानी से रख सकते हैं। इस तरह शू हैंगिंग आर्गेनाइजर की मदद से आपको एक बार में ही बिखरे हुए जूते चप्पलों की समस्या से छुटकारा मिल जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query