डॉ. शैबाल गुप्ता के आलेखों और विचारों को प्रकाशित कराएं : नीतीश

पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि नई पीढ़ी को डॉ. शैबाल गुप्ता के अच्छे कार्यों की जानकारी देने के लिए उनके आलेख व विचारों को प्रकाशित कराएं। इस क्रम में जो जरूरत होगी, सरकार सहयोग करेगी। वे शनिवार को डॉ. शैबाल गुप्ता को श्रद्धांजलि देने के लिए हुई शोक सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा-प्रो. अमर्त्य सेन ने डॉ. गुप्ता से जुड़ी कई बातों की चर्चा की। प्रो. सेन बिहार से विशेष तौर पर जुड़े रहे हैं।

डॉ. गुप्ता अर्थशास्त्री, समाजशास्त्री के साथ आद्री के संस्थापक भी थे। वे वैचारिक रूप से कम्युनिस्ट थे लेकिन सबके साथ उनका मधुर संबंध था। बिहार के विकास के लिए हमेशा लगे रहते थे। हमलोग उनकी राय लेते रहते थे। आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट तैयार करने में उनका महत्वपूर्ण सहयोग मिलता रहा। सेंटर फॉर इकोनॉमिक पॉलिसी एंड पब्लिक फाइनांस के गठन में उनकी मदद मिली।

शराबबंदी के फायदों पर आद्री ने बनाई थी रिपोर्ट

सीएम ने कहा आद्री ने शराबबंदी से होने वाले फायदों की अपनी रिपोर्ट में बताया कि इससे दूध की खपत बढ़ गई है। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन किया, जिसमें तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के साथ मुझे भी शामिल होने का मौका मिला था। लॉर्ड मेघनाद देसाई ने कहा मुझे उनके साथ काम करने का सौभाग्य मिला है, वे हमेशा बिहार के बारे में सोचते रहते थे। राज्यसभा के उपाध्यक्ष हरिवंश ने कहा कि उन्होंने शैबाल गुप्ता से यह सीखा था कि अर्थशास्त्र को समझने के लिए इतिहास का ज्ञान जरूरी है।

बिहार को डॉ. शैबाल गुप्ता के अनुभवों का लाभ मिला: अमर्त्य सेन

नोबल पुरस्कार विजेता अमर्त्य सेन ने कहा कि बिहार को शैबाल गुप्ता के अनुभवों का लाभ मिला। वहीं नोबल पुरस्कार विजेता अभिजित बनर्जी ने बिहार के विकास के लिए लगातार प्रयास करने के लिए स्वर्गीय गुप्ता की प्रशंसा की। वहीं, पूर्व उपमुख्यमंत्री व सांसद सुशील मोदी ने बिहार ब्रांड को यूनाइटेड किंगडम में प्रमुखता से रखने के लिए डॉ. गुप्ता की प्रशंसा की।

श्रद्धांजलि सभा में राजद नेता शिवानंद तिवारी, अब्दुल बारी सिद्दिकी, प्रो. मुचकुंद दुबे, अंजन मुखर्जी, जोनाथन लीप, रॉबिन बर्गेस, शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार ने भी अपनी बातें रखी। वित विभाग के प्रधान सचिव डॉ. एस सिद्धार्थ ने घोषणा की कि भविष्य में डॉ. शैबाल गुप्ता स्मारक व्याख्यान आयोजित किए जाएंगे।

One thought on “डॉ. शैबाल गुप्ता के आलेखों और विचारों को प्रकाशित कराएं : नीतीश

  • February 8, 2021 at 5:22 pm
    Permalink

    My family members all the time say that
    I am wasting my time here at net, except I know I am getting familiarity all the time by reading thes good articles or reviews.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query