परिचित ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर किया था ट्यूशन टीचर और महिला का कत्ल

गाजियाबाद : उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में शनिवार की शाम एक मकान में घुसकर ट्यूशन टीचर समेत दो महिलाओं की हत्या कर दी गई। इसके अलावा घर पर मौजूद तीन बच्चों पर भी पेचकस और सिल बट्टे से जानलेवा हमला किया गया। इसके बाद आरोपी ज्वेलरी व नकदी लूटकर मौके से फरार हो गए। पुलिस ने 12 घंटे के भीतर इस दोहरे हत्याकांड का खुलासा करते हुए दो लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में महिला भी शामिल है। जबकि उसके प्रेमी को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से पिस्टल, लूट की नकदी व जेवर बरामद हुए हैं।

वृंदावन का रहने वाली थी महिला

मूलरूप से मथुरा में वृंदावन के रहने वाले लोकमन ठाकुर चौपला बाजार में मंदिर के पास टिक्की का ठेला लगाते हैं। उनके दो बेटे महेश (29 साल) व राजकुमार (21 साल) हैं। महेश की पत्नी डॉली परिवार के साथ दो माह पहले मसूरी थाना क्षेत्र के सरस्वती विहार रहने आई थी।

शनिवार की शाम डॉली और उसके तीन बच्चे गौरी (10 साल), मीनाक्षी (07) और रूद्र (05 साल) के अलावा ट्यूशन टीचर अंशू थी। तभी एक महिला अपने दोस्त के साथ डॉली के घर पहुंची। महिला ने अंशू व डॉली को डराने के लिए फायर किया। इसके बाद उसके दोस्त ने दोनों पर चाकू व सिलबट्टे से वार कर उनकी हत्या कर दी। बच्चे इस घटना का राज न खोल दें, इसलिए उन पर भी जानलेवा हमला किया गया। इसके बाद आरोपी घर में रखे जेवरात व नकदी लूटकर फरार हो गए।

बच्चों ने खोला आंटी का राज

रात करीब साढ़े 9 बजे लोकमन ठाकुर घर पहुंचे तो उन्हें घटना की जानकारी हुई। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बच्चों को सर्वोदय अस्पताल में भर्ती करवाया। मौके पर पहुंचे आईजी प्रवीण कुमार ने पूछताछ की तो बच्चों ने बताया कि लाल क्वार्टर में रहने वाले अंकल घर में आते थे। उनकी पत्नी ने मम्मी व मैम को मारा है। हम लोगों को भी मारा। आरोपियों की फोटो दिखाकर भी पुलिस ने बच्चों से हमलावरों की तस्दीक कराई।

काफी दिनों से बना रही थी लूट का प्लान

शनिवार की रात पुलिस ने आरोपी महिला उमा व उसके दोस्त सोनू को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आरोपी सिहानी गेट के रहने वाले हैं। उमा ने बताया कि डॉली की वह सास लगती थी और इसी नाते डॉली के बच्चे उसे दादी दादी कहते थे। काफी वक्त से मेरा व सोनू का लूट को लेकर प्लान चल रहा था।

शनिवार की शाम मैं व सोनू डॉली के घर पहुंचे। जहां बैठकर पहले चाय पी फिर मौका पाकर सोनू ने दोनों महिलाओं और बच्चों को एक कमरे में बंद कर लिया और गोलियां चला दी। गोलियां खत्म हो जाने के बाद क्योंकि बच्चे इन्हें पहचानते थे, इनका राज ना खुले, इसके लिए सोनू ने घर में रखकर पेचकस और सिलबट्टे से वार कर बच्चों को भी बुरी तरह घायल कर दिया और घर में रखे कीमती सामान और नगदी लेकर फरार हो गए।

दोनों आरोपियों को किया गया गिरफ्तार

SSP कलानिधि नैथानी ने बताया कि सरस्वती विहार में 2 महिलाओं की हत्या की सूचना मिली थी। उसी परिवार की एक परिचित महिला ने अपने पुरुष मित्र के साथ घटना को अंजाम दिया है। इस प्रकरण में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। उन पर कार्रवाई का आदेश दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query