वास्तु टिप्स का पालन करके सौभाग्य बुलाएं अपने घर

कई बार ऐसा होता है कि जीवन के कई क्षेत्रों में लगातार मेहनत करने के बावजूद हमें मनोवांछित सफलता नहीं मिलती है। लेकिन इसमें उदास और परेशान होने की जरूरत नहीं है। वास्तु शास्त्र में ऐसे कई उपाय बताए गए हैं, जिनका पालन करते हुए अगर हम अपने जीवन के कार्य करते हैं, तो सफलता मिलने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे ही वास्तु टिप्स के बारे में बताएंगे, जो बेहद आसान होने के साथ ही काफी प्रभावी भी माने गए हैं।

वास्तु के अनुसार, कभी भी घर में दो बार झाड़ू लगाने से बचना चाहिए। वास्तु कहता है कि एक बार के झाड़ू से ही घर की सभी नकारात्मक एनर्जी बाहर निकल जाती है। वहीं जब हम दूसरी बार झाड़ू लगाते हैं तो सकारात्मक एनर्जी भी बाहर निकल जाती है। इसीलिए घर में दो बार झाड़ू लगाने से बचना चाहिए।

इसके साथ ही झाड़ू को कभी भी खड़ा करके नहीं रखें और इसे हमेशा लिटा कर रखें। कोशिश करें कि झाड़ू को ऐसी जगह रखें जहाँ लोगों की नजर ना पड़े।

इसके साथ ही आप अपने घर के मेन डोर पर दो हाथी के जोड़े की मूर्ति अगर रखते हैं। यह सकारात्मक ऊर्जा को आपके घर में प्रवेश कराने में मदद करता है। वहीं आप जब भी घर से बाहर जाएं, तो हाथी के जोड़ों की मूर्ति को देख कर बाहर निकलें। इससे आपके बिगड़े हुए काम बनने लगते हैं।

कई लोगों को घर में गुलदस्ते और बुके रखने का शौक होता है, लेकिन इसके साथ यह ध्यान देने वाली बात है कि कभी भी सूखे और मुरझाए हुए फूलों को नहीं रखना चाहिए। वास्तु शास्त्र कहता है कि यह नकारात्मक ऊर्जा को बढ़ावा देते हैं और आपके बनते हुए काम भी बिगड़ने लगते हैं।

अगर आप लंबे समय से अपने किसी काम में असफल हो रहे हैं, तो वास्तु शास्त्र के अनुसार अपनी थाली में से एक रोटी गौ माता के नाम पर अवश्य निकालें और उसे अपने हाथों से खिलायें। इसके साथ ही अगर उस रोटी में चीनी और घी लगाते हैं, तो इसके परिणाम बेहद अच्छे आएंगे और लंबे समय से रुके पड़े आपके काम संपन्न हो जाते हैं।

वास्तुशास्त्र यह भी कहता है कि आप अगर अपने शयनकक्ष या बेडरूम में भोजन करते हैं, तो यह बेहद गलत बात है। इसका दुष्परिणाम आपको अपने कैरियर में असफलता के रूप में सामने आता है। इसीलिए जितना संभव हो सके, डायनिंग एरिया या किचन में खाना खाएं।

वहीं वास्तु शास्त्र के अनुसार रात को सोने के समय आप यह ध्यान रखें कि उठते समय आपका चेहरा उत्तर पूर्व दिशा की तरफ रहे। चूंकि इस दिशा में भगवान कुबेर का वास होता है और जब आप सुबह उठते हैं तो भगवान की कृपा आपके ऊपर बनी रहती है और अपने कैरियर में आपको सफलता भी मिलती है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार सुबह उठने के बाद तुरंत अपने चेहरे को आईने में ना देखें, क्योंकि इससे आपकी पॉजिटिव एनर्जी क्षीण होती है। जहां तक संभव हो, सुबह उठने पर सबसे पहले भगवान के दर्शन करें या फिर कोई ऐसी चीज देखें जिससे आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा बढ़ने लगे और दिन भर आप तरोताजा महसूस करें।

वहीं आप अगर सुबह उठने के बाद तांबे के लोटे में जल भरकर सूर्य भगवान को अर्पित करते हैं तो इससे भी आपकी सफलता के मार्ग आसानी से खुल जाते हैं और आपके लंबे समय से अटके पड़े कार्य होने लगते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query