चौकों के साैंदर्यीकरण कार्य पर लगा ब्रेक हटा, संवेदकाे काे जल्द काम शुरू करने का निर्देश

धनबाद : शहर में चाैक-चाैराहे के साैंदर्यीकरण का कार्य जल्द शुरू हाेगा। नगर आयुक्त सत्येंद्र कुूमार ने सभी संवेदकाें काे साैंदर्यीकरण का कार्य जल्द शुरू करने का निर्देश दिया है। निगम क्षेत्र के 22 चाैराहों के साैंदर्यीकरण का टेंडर पिछले साल निकाला गया था। टेंडर फाइनल कर संवेदकाे काे कार्य का आवंटन भी कर दिया गया था, लेकिन किसी संवेदक ने काम शुरू नहीं किया था। काेराेना के कारण सरकार ने सभी तरह के सिविल वर्क पर राेक लगा दी थी। काेराेना के कारण चाैक-चाैराहों का काम भी लटक गया। अब फिर से इसकी कवायद शुरू की गई है। निगम के अफसराें की माने ताे एक पखवारे के भीतर साैंदर्यीकरण का काम शुरू हाे जाने की उम्मीद है।

प्रतिमाएं लगाने पर 5.50 करोड़ खर्च था, टेंडर रद्द

चाैक-चाैराहे पर प्रतिमाएं लगाने का टेंडर रद्द कर दिया गया है। निगम ने यह टेंडर पिछले साल अक्टूबर में ही रद्द कर दिया है। प्रतिमा लगाने पर 5 कराेड़ 50 लाख रुपए खर्च किए जाने था। निगम के अफसराें ने बताया कि अधिकतर चाैराहे पर पहले से ही किसी न किसी महापुरुष की प्रतिमा लगी हुई है। उसे हटा कर उसी स्थान पर नई प्रतिमा लगाने में सरकारी राशि की बर्बादी ही हाेती। इसी कारण उस टेंडर काे रद्द कर दिया गया है। चाैक-चाैराहे के साैंदर्यीकरण पर 10 कराेड़ रुपए से अधिक की राशि खर्च की जाएगी। यह कार्य 14वें वित्त आयाेग की राशि से हाेना है।

साैंदर्यीकरण कार्य में ग्रीन पैच काे अधिक महत्व दिया गया है

साैंदर्यीकरण कार्य में ग्रीन पैच पर खास फाेकस किया गया है। चाैक पर बने गाेलंबर की चाैड़ाई काे कम करने के साथ सभी चाैराहों पर स्ट्रीट और हाईमास्ट लाइट लगाई जाएगी। फूल और पाैधे भी लगाया जाएगा। निगम की माने ताे शहर में बढ़ते प्रदूषण काे देख साैंदर्यीकरण कार्य में ग्रीन पैच काे अधिक महत्व दिया गया है। बड़े चाैकों पर हरियाली भी दिखेगी।

इन चौकों का किया जाना है सौंदर्यीकरण

मेमकाे माेड़, विनाेद बिहारी चाैक, शक्ति चाैक, निरंकारी चाैक, गाेल बिल्डिंग, हीरक राेड बलियापुर चाैक, स्टील गेट, रणधीर वर्मा चाैक, श्रमिक चाैक, पूजा टाॅकिज चाैक, बेकारबांध चंद्रशेखर आजाद चाैक, धनसार चाैक, झरिया कतरास माेड़, झरिया इंदिरा चाैक, जामाडाेबा चाैक, भागा चाैक, करकेंद माेड़, पुटकी चाैक, कतरास थाना चाैक, कतरास भगत सिंह चाैक के अलावे भूली और सिंदरी के भी चाैक।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query