पेट की गैस की दिक्कत से रहते हैं परेशान, तो अपनाएं यह घरेलू नुस्खे

आप लगभग आधा चम्मच हींग को गर्म पानी के साथ मिला सकते हैं और गैस की समस्या को रोकने के लिए इसे पी सकते हैं। हींग एक एंटी-फ़्लैटुलेंट के रूप में कार्य करता है जो पेट में अतिरिक्त गैस उत्पन्न करने वाले आंत बैक्टीरिया के विकास को रोकता है।

भारतीयों में फूडी होना एक आम बात है और इसलिए गैस्ट्रिक समस्याएं भी उत्पन्न होना लाज़मी है। अपच, गैस, सूजन, हिचकी, पेट दर्द, अल्सर, और मतली, गैस्ट्रिक समस्याओं की कुछ सामान्य विशेषताएं हैं। ये मूल रूप से अस्वस्थ जीवन शैली की वजह से होते हैं, जिनमें धूम्रपान, शराब पीना, नींद की बीमारी, जंक फ़ूड, तनाव आदि शामिल हैं।

गैस पेट में कभी भी हमला कर सकती है जो की बहुत शर्मनाक हो सकता है। चिकित्सकीय रूप से इसे पेट फूलना के रूप में जाना जाता है, यह एक ऐसी स्थिति है जहां आपके पाचन तंत्र में अतिरिक्त गैस एकत्र हो जाती है। लेकिन समस्या से निपटने के लिए, यह समझना सबसे ज़रूरी है कि ऐसा क्यों होता है। गैस आपके पाचन तंत्र में दो तरह से जमा हो सकती है। भोजन करते या पानी पीते समय, आप हवा को भी निगलते हैं जिससे ऑक्सीजन और नाइट्रोजन आपके शरीर में चली जाती है। दूसरा और महत्वपूर्ण कारण है कि जब आप अपने भोजन को पचाते हैं; हाइड्रोजन, मीथेन या कार्बन डाइऑक्साइड जैसी गैसें निकलती हैं और आपके पेट में जमा हो जाती हैं। यह आपके भोजन विकल्पों पर भी निर्भर करता है। जैसे सेम, पत्तागोभी, छोले और दाल या फलों के रस जैसे उच्च कार्ब खाद्य पदार्थ आसानी से पचते नहीं हैं।

अच्छी बात यह है कि आप प्राकृतिक रूप से गैस की परेशानी से छुटकारा पाने के लिए बहुत सी घरेलू सामग्री तक पहुंच सकते हैं। यहां गैस के लिए कुछ सर्वश्रेष्ठ घरेलू उपचार दिए गए हैं जो बिना असफल हुए काम करते हैं। आइये जानते हैं उसके बारे में-

अजवाइन या कैरम सीड्स

नुट्रिशनिस्ट्स बताते हैं कि कैरम के बीज में थाइमोल नामक एक यौगिक होता है जो गैस्ट्रिक रस को निकालता है, जिससे पाचन क्रिया में मदद मिलती है। आप बेहतर महसूस करने के लिए दिन में एक बार पानी के साथ लगभग आधा चम्मच कैरम बीज ले सकते हैं।

जीरा पानी

जीरा पानी पीना गैस्ट्रिक या गैस की समस्या के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपचार है। सूरा या जीरा में आवश्यक तेल होते हैं जो भोजन के बेहतर पाचन में मदद करता है और अतिरिक्त गैस के निर्माण को रोकता है। जीरा का एक बड़ा चम्मच लें और इसे दो कप पानी में 10-15 मिनट के लिए उबालें। इसे ठंडा होने दें और अपने भोजन के बाद इसे पीएं।

हींग

आप लगभग आधा चम्मच हींग को गर्म पानी के साथ मिला सकते हैं और गैस की समस्या को रोकने के लिए इसे पी सकते हैं। हींग एक एंटी-फ़्लैटुलेंट के रूप में कार्य करता है जो पेट में अतिरिक्त गैस उत्पन्न करने वाले आंत बैक्टीरिया के विकास को रोकता है। आयुर्वेद के अनुसार, हींग शरीर के वायु दोष को संतुलित करने में मदद करता है।

अदरक

यह एक बेहतरीन आयुर्वेदिक उपाय है कि आप एक चम्मच ताज़े अदरक को कद्दूकस कर लें और इसे अपने भोजन के बाद एक चम्मच लाइम जूस के साथ लें। गैस से राहत पाने के लिए अदरक की चाय पीना भी एक प्रभावी घरेलू उपाय है। अदरक एक प्राकृतिक (पेट फूलने से राहत देने वाले एजेंट) के रूप में कार्य करता है।

बेकिंग पाउडर के साथ नींबू का रस

यह उपचार अतिरिक्त गैस को कम करने के लिए एक और सरल उपाय है। 1 चम्मच नींबू का रस और आधा चम्मच बेकिंग सोडा को एक कप पानी में घोलें। अपने भोजन के बाद इसे पिएं, क्योंकि यह कार्बन डाइ ऑक्साइड बनाने में मदद करता है जो पाचन प्रक्रिया को आसान बनाता है।

त्रिफला

हर्बल पाउडर त्रिफला भी पेट के दर्द से निपटने में काफी मददगार है। इसका आधा चम्मच उबलते पानी मे 5-10 मिनट के लिए रखें और फिर बिस्तर पर जाने से पहले इसे पी लें। इस मिश्रण के सेवन की मात्रा से सावधान रहें क्योंकि इसमें फाइबर की मात्रा उच्च है। इसे अधिक मात्रा में लेने पर सूजन का कारण बन सकता है।

उपर्युक्त घरेलू उपचार गैस्ट्रिक परेशानियों से तुरंत राहत प्रदान कर सकते हैं। अगर ये सुझाव बहुत राहत देने में विफल रहते हैं तो तुरंत चिकित्सा सहायता लेनी चाहिए।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query