स्वच्छ सर्वेक्षण में गुड़गांव को नंबर-1 रैंक दिलाने के लिए निगम ने कसी कमर

गुड़गांव : केन्द्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय द्वारा प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी स्वच्छ सर्वेक्षण किया जा रहा है। स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 में गुड़गांव भी भागीदारी कर रहा है। सर्वेक्षण के लिए केंद्रीय टीम कभी भी आ सकती है। अब निगम का पूरा जोर सर्वेक्षण पर है।

सर्वेक्षण में गुड़गांव को नम्बर-1 रैंक दिलाने के लिए नगर निगम द्वारा पूरी तैयारी करने का दावा किया जा रही है। दावा किया जा रहा है कि इसके तहत नगर निगम के स्वच्छता सैनिक प्रतिदिन क्षेत्र की सफाई के लिए जुटे हुए हैं। कचरे का निस्तारण सुनिश्चित करने के लिए प्रत्येक सोमवार को जीरो वेस्ट डे मनायाने का फैसला लिया गया है।

इस दिन कचरा उठाने वाली गाड़ियां घरों से केवल गीला कचरा ही कलेक्ट किया जा रहा है। इस दिन मिश्रित कचरा कलेक्ट नहीं किया जा रहा। इस तरह से नागरिकों में सूखा और गीला कचरा अलग करने की आदत डालने की कोशिश की जा रही है। नागरिकों से आह्वान किया जा रहा कि वे प्रत्येक सोमवार को ज़ीरो वेस्ट डे में सहयोग देकर इसे सफल बनाएं।

नगर निगम गुरुग्राम की स्वच्छ भारत मिशन शाखा के सयुंक्त आयुक्त धीरज कुमार का कहना है कि स्वच्छ सर्वेक्षण के तहत रैंकिंग सुधार के लिए दामन-चोली का साथ अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत निगम की स्वच्छता शाखा द्वारा बविभिन्न बाजार क्षेत्रों में विशेष ड्राइव चलाकर रेहड़ियों तथा दुकानों पर दो डस्टबिन प्रथा को सुनिश्चित किया जा रहा है।

दामन-चोली अभियान का तात्पर्य यही है कि रेहड़ी व दुकान पर दो डस्टबिन होना अनिवार्य है। निगम के इस अभियान में सभी निगम पार्षदों, बाजार एसोसिएशन तथा दुकानदारों का भरपूर सहयोग मिल रहा है। निगम टीमों द्वारा रंगोली आदि के माध्यम से बाजारों में सुंदरता भी बढ़ाने का काम किया जा रहा है।

नागरिकों को कचरा अलग-अलग करने के प्रति भी प्रेरित किया जा रहा है

मेयर मधु आजाद ने बताया कि इस अभियान के तहत नागरिकों से आह्वान किया जा रहा है कि वे स्वच्छता बनाए रखने में सहयोग करें। इधर-उधर कचरा ना फैलाएं तथा सिंगल यूज प्लास्टिक एवं पॉलीथीन का उपयोग बिलकुल ही बन्द कर दें क्योंकि यह पर्यावरण के लिए बहुत ही हानिकारक है।

मेयर ने बताया कि नागरिकों को कचरा अलग-अलग करने के प्रति भी प्रेरित किया जा रहा है कि अगर हम गीला, सूखा व घरेलू हानिकारक कचरा अलग-अलग करेंगे तो इसके निपटान में भी मदद मिलेगी। गीले कचरे से खाद तैयार होती है, जो हरियाली बढ़ाने में उपयोगी है। इसी प्रकार सूखा एवं घरेलू हानिकारक कचरा संबंधित रिसाइकलर को सौंपें।

अधिकारियों ने कसी कमर संयुक्त आयुक्त ने बताया कि अधिकारियों को सभी बाजारों में कचरा कलैक्शन गाड़ी की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए गए। कचरा कलैक्शन गाडिय़ों का रूट प्लान बनाकर उसकी निरंतरता की निगरानी की जाए। बाजार क्षेत्रों में प्रतिदिन 2-3 बार कचरा कलैक्शन की व्यवस्था सुनिश्चित करने की व्यवस्था की गई है। ताकि प्रत्येक यूनिट से कचरा कलैक्शन हो सके। सभी दुकानदारों एवं स्ट्रीट वेंडरों के पास दो डस्टबिन की उपलब्धता एवं इनके उपयोग को सुनिश्चित किया जा रहा है। इसके साथ ही स्वच्छता विंग से जुड़े अधिकारी को अपने-अपने क्षेत्रों में स्थित सार्वजनिक एवं सामुदायिक शौचालयों में ओडीएफ प्लस प्लस के मापदंडों अनुसार सभी आवश्यक संसाधन और सेवाओं को सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query