प्राणायाम मुख्य रूप से ब्रीदिंग एक्सरसाइज

योगागुरू बताते हैं कि प्राणायाम मुख्य रूप से ब्रीदिंग एक्सरसाइज है। सांस ऊर्जा का महत्वपूर्ण स्रोत है और जब हम अपनी सांसों के प्रवाह पर ध्यान देते हैं तो इसका अर्थ है कि हम खुद को अंदर से हील कर रहे हैं। हमारी कोशिकाएं ऑक्सीजन की मदद से हर समय पुनर्जीवित होती हैं।

कोरोना काल में हर व्यक्ति ने प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने पर जोर दिया है। साथ ही साथ बेहतर प्रतिरक्षा तंत्र से मिलने वाले फायदों को भी गहराई से समझा है। मजबूत प्रतिरक्षा तंत्र आपके शरीर के लिए एक रक्षा कवच की तरह काम करता है, जो बाहरी संक्रमण से आपका बचाव करता है। अमूमन लोग अपने खानपान के जरिए इम्युन सिस्टम को मजबूत करने की कोशिश करते हैं। लेकिन इसमें योग भी उतना ही लाभकारी है। कई योगासनों के अलावा प्राणायाम व जलनेति आदि कई ऐसी क्रियाएं जो आपके इम्युन सिस्टम को बूस्ट करती हैं। तो चलिए आज हम आपको इस बारे में बता रहे हैं−

प्राणायाम से बढ़ती इम्युनिटी

योगागुरू बताते हैं कि प्राणायाम मुख्य रूप से ब्रीदिंग एक्सरसाइज है। सांस ऊर्जा का महत्वपूर्ण स्रोत है और जब हम अपनी सांसों के प्रवाह पर ध्यान देते हैं तो इसका अर्थ है कि हम खुद को अंदर से हील कर रहे हैं। हमारी कोशिकाएं ऑक्सीजन की मदद से हर समय पुनर्जीवित होती हैं। ऑक्सीजन प्राप्त करने के लिए श्वास सबसे तेज और सबसे कुशल स्रोत है। गहरी सांस लेने से हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को संक्रमण और किसी अन्य बीमारी से लड़ने के लिए कोशिकाओं को पुनर्जीवित करने में मदद मिलती है जो हमें प्रभावित करती हैं। कुछ ब्रीदिंग एक्सरसाइज हमारे प्रतिरक्षा प्रणाली की क्षमता को बढ़ाते हैं। बेहतर हवा की गुणवत्ता और आप जितनी गहरी साँस लेते हैं उतना ही आप अपने प्रतिरक्षा प्रणाली को ठीक से काम करने में मदद कर सकते हैं। नियमित रूप से गहरी साँस लेने के व्यायाम का अभ्यास आपके समग्र प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार कर सकता है।

जलनेति से बढ़ाएं इम्युनिटी

जलनेति भी प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने में बेहद प्रभावी मानी गई है। योगागुरू के अनुसार, जल नेति छह शुद्धिकरण प्रक्रियाओं में से एक है। यह मुख्य रूप से नाक की सफाई करता है। अधिकतर, वायरस मुख्य रूप से नाक और मुंह के माध्यम से हमारे सिस्टम में प्रवेश करते हैं। ऐसे में जब गर्म नमकीन पानी के साथ जलनेति क्रिया की जाती है तो इससे नथुने से वायरल और बैक्टीरिया के कीटाणुओं को हटाने में मदद मिलती है। इतना ही नहीं, जलनेति इम्युनिटी बढ़ाने के साथ−साथ हमारी श्वास नली को साफ करके श्वसन क्षमता को भी बढ़ाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query