मुंबई में फिर बढ़ रहे हैं कोरोना के केस, 77 दिन बाद फिर 800 पार हुआ नए मरीजों आंकड़ा

मुंबई : मुंबई में कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। शुक्रवार को मुंबई में कोरोना 823 नए मरीज मिले हैं। करीब 77 दिन बाद मुंबई में कोरोना मरीजों की संख्या 800 के पार हुई है। इससे पहले 4 दिसंबर को कोरोना के 813 नए मरीज मिले थे। यहां डबलिंग रेट भी 60 दिन बाद घटा है। 17 फरवरी को कोरोना के 721 नए मरीज मिले थे, 19 फरवरी यह संख्या 823 हो गई।

कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या का असर कोरोना मरीजों के दुगुने होने की कालावधि (डबलिंग रेट), कोरोना मरीजों के साप्ताहिक वृद्धि दर पर भी बढ़ा है। 19 फरवरी को कोरोना मरीजों का डबलिंग रेट 393 दिन हो गया है। इसके पहले 17 जनवरी को मुंबई में डबलिंग रेट 392 दिन। इसके अलावा शुक्रवार को पूरे राज्य में कोरोना के 6,112 नए मरीज मिले हैं। पूरे राज्य में 2,159 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है, जिसमें मुंबई के 440 मरीज शामिल हैं।

शुक्रवार को मुंबई में 5 मरीजों सहित पूरे राज्य में कोरोना से 44 लोगों की मौत हुई है। असोसिएशन ऑफ मेडिकल कंसल्टेंट के अध्यक्ष डॉ. दीपक वैद्य के मुताबिक मुंबई में कोरोना के मामले कम होने के बाद लोग लापरवाह हो गए हैं। मास्क न पहनने, सोशल डिस्टेनसिंग का पालन न करने का दृश्य हर जगह दिखाई दे रहा है। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन न करने वालों के साथ बीएमसी अब सख्ती से निपट रही है।

टेस्टिंग बढ़ी
बीएमसी की कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मंगला गोमारे ने बताया कि बढ़ते मरीजों के साथ कोरोना की टेस्टिंग भी बढ़ा दी गई है। पहले 16 से 18 हजार लोगों की रोजाना टेस्टिंग की जाती थी। अब यह संख्या 20 हजार से अधिक कर दी गई है। बुधवार को तो 23 हजार लोगों की टेस्टिंग की गई है।

6 दिन में बढ़े 3,138 मरीज

पिछले 6 दिनों में मुंबई में कोरोना के 3,138 नए मरीज मिले हैं। 14 फरवरी से लेकर 19 फरवरी तक नए मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। 14 फरवरी को कोरोना के 645 नए मरीज मिले थे, जबकि 17 फरवरी को 721, 18 फरवरी को 736 और 19 फरवरी को 823 नए मरीज मिले हैं।

मौत की संख्या स्थिर

फरवरी के दूसरे सप्ताह से कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है, लेकिन मौत की संख्या फरवरी के पहले दिन से ही स्थिर बनी हुई है। एक फरवरी से अभी तक मौत की संख्या 5 से 8 के बीच ही बनी हुई है। एक फरवरी को कोरोना से 8 लोगों की मौत हुई है, जबकि 19 फरवरी को मौत की संख्या 5 रही है।

कंट्रोल रूम में कोरोना को लेकर फिर बजने लगी घंटी
कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने से बीएमसी सतर्क हो गई है। बीएमसी डिजास्टर कंट्रोल रूम के एक अधिकारी ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से कोरोना के बारे में पूछताछ करने के लिए फोन अधिक आने लगे हैं। पहले दिनभर में चार-पांच कॉल आते थे, जो अब बढ़कर 10 से 15 हो गए हैं। अधिकारी ने बताया कि हमें निर्देश दिया गया है कि कोरोना को लेकर कोई फोन आने पर संबंधित व्यक्ति को उस वॉर्ड के वॉर रूम का नंबर दे दिया जाए, हम वही कर रहे हैं।

बीएमसी अधिकारी ने कहा कि फोन करनेवाले व्यक्ति को उसके वॉर्ड वॉर रूम का नंबर दे देते हैं और उसका नाम, पता व मोबाइल नंबर लिख लेते हैं। बाद में हम कन्फर्म करते हैं कि फोन करनेवाला व्यक्ति वॉर्ड वॉर रूम में गया कि नहीं। अधिकारी ने कहा कि मुंबई में जब कोरोना पीक पर था, तब दिन भर में सैकड़ों फोन आते थे, अब गिने-चुने ही आते हैं। वॉर्ड वॉर रूम के नंबर ज्यादातर लोगों को पता हैं या हमारी वेबसाइट पर उपलब्ध हैं। इससे लोगों को आसानी हो रही है। लोग ज्यादातर कोरोना के लक्षण दिखाई देने पर उसकी जांच के बारे में ही पूछते हैं।

अब तक 23 मंत्री आ चुके हैं कोरोना की चपेट में

कोरोना का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। आम आदमी ही नहीं, खास लोग भी इसके शिकार हो रहे हैं। अब तक महाराष्ट्र के 23 मंत्री कोरोना की चपेट में आ चुके हैं।
जितेंद्र आव्हाड – गृहनिर्माण मंत्री, अप्रैल 2020
अशोक चव्हाण – सार्वजनिक निर्माण मंत्री, 25 मई 2020
धनंजय मुंडे – सामाजिक न्याय मंत्री,12 जून 2020
असलम शेख – वस्त्रोद्योग मंत्री, 20 जुलाई 2020
बालासाहेब पाटील – सहकार मंत्री, 15 अगस्त 2020
सुनील केदार – दुग्धविकास मंत्री, 3 सितंबर 2020
नितीन राउत – ऊर्जा मंत्री,18 सितंबर 2020
हसन मुश्रीफ – ग्रामविकास मंत्री, 18 सितंबर 2020
एकनाथ शिंदे – नगरविकास मंत्री, 24 सितंबर 2020
वर्षा गायकवाड – शिक्षा मंत्री ,22 सितंबर 2020
अनिल परब – परिवहनमंत्री, 12 अक्टूबर 2020
अजित पवार – उपमुख्यमंत्री, 26 अक्टूबर 2020
अनिल देशमुख – गृहमंत्री, 5 फरवरी 2021
राजेंद्र शिंगणे – अन्न आणि औषधि प्रशासन मंत्री,16 फरवरी 2021
जयंत पाटील – जलसंपदा मंत्री, 18 फरवरी 2021
राजेश टोपे – स्वास्थ्य मंत्री,19 फरवरी 2021

राज्यमंत्री
अब्दुल सत्तार – राजस्व राज्यमंत्री, 22 जुलाई 2020
संजय बनसोडे – पर्यावरण, रोजगार गारंटी योजना राज्यमंत्री, जुलाई 2020
प्राजक्त तनपुरे – नगरविकास, ऊर्जा राज्यमंत्री, 7 सितंबर 2020
विश्वजीत कदम – सहकार, कृषी राज्यमंत्री, 11 सितंबर 2020
बच्चू कडू – स्कूली शिक्षा राज्यमंत्री, 19 सितंबर 2020
सतेज पाटील – गृहराज्यमंत्री, 9 फरवरी 2021
दत्तात्रय भरणे, जलसंपदा राज्यमंत्री, फरवरी 2021
बच्चू कडू – स्कूली शिक्षा राज्यमंत्री – 19 फरवरी 2021

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query