उत्तर भारतीयों को एकजुट करने में जुटे ‘नेताजी’

मुंबई : पूर्व मंत्री कृपाशंकर सिंह ने रविवार से मुंबई महानगर क्षेत्र के उत्तर भारतीय समाज के लोगों और नेताओं को एकजुट करने के लिए संकल्प यात्रा शुरू की। उन्होंने कहा कि परिश्रम के बैनर तले यह संकल्प यात्रा शुरू की गई है। इसे पूर्व सांसद रमेश दुबे, पूर्व मंत्री चंद्रकांत त्रिपाठी सहित सभी राजनैतिक दलों के नेताओं का समर्थन प्राप्त है।

उनका लक्ष्य अगले छह महीने में एक लाख उत्तर भारतीय परिवार से मिलने का है, जिससे लोगों को भरोसा हो जाए कि उनका प्रतिनिधित्व करने वाले नेता अपने समाज के लोगों के लिए गंभीर हैं और अगर समाज के किसी भी व्यक्ति को दिक्कत हो, तो बेझिझक अपने समाज के नेताओं से मिल सके। उत्तर भारतीय एक मेहनती समाज है। कृपाशंकर सिंह ने कहा कि सभी राजनैतिक पार्टियां उत्तर भारतीय समाज को अपना वोट बैंक समझती हैं, लेकिन उन्हें उचित प्रतिनिधित्व नहीं देती हैं, लेकिन इस बार मुंबई का अगला महापौर बनाने में उत्तर भारतीय समाज का अहम योगदान होगा।

मुंबई बीजेपी के उत्तर भारतीय नेता अमरजीत मिश्र ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय कार्यकर्ता संपर्क अभियान शुरू किया है। उन्होंने कहा, ‘पंडित दीनदयाल कहते थे कि समाज के सबसे पिछड़े व्यक्ति से संपर्क कर उन्हें हरसंभव मदद करना चाहिए।’ इसीलिए वे अपने संपर्क अभियान में उत्तर भारतीय सहित हर समाज के लोगों से मिल रहे हैं।

समाजवादी पार्टी के विधायक अबू आसिम आजमी ने भी उत्तर भारतीयों को एकजुट करने के लिए अभियान शुरू कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 2012 में उत्तर प्रदेश के लोगों ने बहुमत वाली सरकार सपा को दी थी। उन्हीं उत्तर प्रदेश के लोगों का परिवार मुंबई में रहता है। उनसे संपर्क स्थापित करके उन्हें एकजुट किया जाएगा, ताकि बीएमसी चुनाव में अधिक उत्तर भारतीय चुनकर आएं और उत्तर प्रदेश में भी सपा की बहुमत वाली सरकार आए।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता पारस नाथ तिवारी ने सामाजिक समरसता अभियान शुरू किया है। उनका कहना है कि मराठी और उत्तर भारतीय समाज में सामाजिक समरसता बनी रहे, इसीलिए वे अपने अभियान के जरिए उत्तर भारतीय सहित हर समाज के लोगों से मिल रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query