एसिडिटी की समस्या से हैं परेशान तो छोटी इलायची से राहत

छोटी इलायची खाने से फेफड़ों (लंग्स) में ब्लड सर्कुलेशन तेज़ी से होता है जिससे अस्थमा, तेज ज़ुकाम और खांसी से राहत मिलती है। इलायची की तासीर गर्म मानी जाती है इसलिए इसे खाने पर शरीर को गर्मी मिलती है।

छोटी इलायची का इस्तेमाल गरम मसाले के रूप में सब्ज़ी का स्वाद और खुशबू बढ़ाने के साथ ही मिठाई और खीर का फ्लेवर बढ़ाने के लिए भी किया जाता है, लेकिन क्या आपको पता है कि खाने का स्वाद बढ़ाने वाली छोटी इलायची आपकी सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होती है। रोज़ाना 2-3 इलायची खाना सेहत के लिए अच्छा माना जाता है।

फेफड़ों की समस्या से राहत

छोटी इलायची खाने से फेफड़ों (लंग्स) में ब्लड सर्कुलेशन तेज़ी से होता है जिससे अस्थमा, तेज ज़ुकाम और खांसी से राहत मिलती है। इलायची की तासीर गर्म मानी जाती है इसलिए इसे खाने पर शरीर को गर्मी मिलती है।

ब्लड प्रेशर ठीक रहता है

आजकल लोगों को हाई ब्ल्ड प्रेशर की समस्या बहुत हो रही है। छोटी इलायची इस परेशानी को दूर करके आपके बल्ड प्रेशर को नियंत्रित रखने में मदद करती है। रोज़ाना 2-3 इलायची खाने से हाई बीपी की समस्या नहीं होगी।

मुंहासे दूर करे

यदि आप भी अक्सर मुहांसों से परेशान रहते हैं, तो रोजाना रात को सोने से पहले गर्म पानी के साथ एक इलायची खाएं। इससे मुहांसों के साथ ही त्वचा संबंधी अन्य समस्याएं भी दूर हो जाएंगी।

कब्ज से राहत

छोटी इलायची पेट की बीमारियों को भी दूर रखती है। यदि आपको कब्ज है तो छोटी इलायची खाएं। सुबह खाली पेट एक इलायची गुनगुने पानी के साथ खाने से पेट की समस्या के साथ ही बाल झड़ने की परेशानी भी दूर हो जाएगी।

अच्छी नींद आती है

अगर आप भी नींद न आने की वजह से नींद की गोलियां खा रहे हैं तो उसे बंद करके इलायची खाना शुरू कर दें। रोजाना रात को सोने से पहले इलायची को गर्म पानी के साथ खाएं। इससे अच्छी नींद आएगी और गोलियों की तरह इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता।

एसिडिटी करे दूर

इलायची में तेल होता है और यही एसेंशियल ऑयल पेट की अंदरुनी लाइनिंग को मजबूत करता है जिससे पेट में जमा होने वाला एसिड धीरे-धीरे हट जाता है। इसलिए एसिडिटी होने पर दवा की बजाय एक इलायची खा लें।

तनाव करता है दूर

यदि आप अक्सर टेंशन में रहते हैं तो इलायची का काढ़ा पीएं। इसके लिए इलायची पाउडर को पानी में उबालें और छानकर इसमें थोड़ा-सा शहद मिलाकर पी जाएं। इसके अलावा जब कभी ज़्यादा तनाव महसूस हो तो मुंह में दो इलायची डालकर चबाएं। इलायची चबाने से हार्मोन में तुरंत बदलाव हो जाता है और आपकी टेंशन दूर हो जाती है।

मुंह की दुर्गंध से छुटकारा

प्याज़, लहसुन खाने पर या फिर वैसे भी यदि मुंह से दुर्गंध आती है तो एक इलायची चबा लें, मुंह की दुर्गंध गायब हो जाएगी।

उल्टी में फायदेमंद

सफर के दौरान यदि आपको उल्टी आने की समस्या है तो कार, बस आदि में बैठते ही मुंह में इलायची रख लें, उल्टी नहीं होगी।

तुलसी की पत्तियां

घर में बड़े−बूढे़ हमेशा ही तुलसी की पत्तियां चबाने की सलाह देते हैं। वैसे तो इससे कई लाभ होते हैं, लेकिन एसिडिटी को दूर करने में बेहद प्रभावी है। एक तुलसी के पत्तों को खाएं या 3−4 तुलसी के पत्तों को एक कप पानी में उबालें और इसे कुछ मिनट के लिए उबलने दें। इस पर बार−बार घूंट लेते हैं। यह एसिडिटी के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपचारों में से एक है।

सौंफ

आप पेट की अम्लता को रोकने के लिए, भोजन के बाद सौंफ चबा सकते हैं। इसके अलावा सौंफ की चाय का सेवन भी किया जा सकता है। इन बीजों में पाए जाने वाले तेलों के कारण अपच और सूजन को कम करने में चाय बहुत उपयोगी मानी जाती है।

दालचीनी

दालचीनी पेट की अम्लता को दूर करने के लिए एक प्राकृतिक एंटासिड के रूप में काम करता है। यह पाचन और अवशोषण में सुधार करके आपके पेट को व्यवस्थित कर सकता है। आप जठरांत्र संबंधी मार्ग में संक्रमण को ठीक करने के लिए दालचीनी की चाय पीएं। दालचीनी पोषक तत्वों का एक पावरहाउस है और स्वास्थ्य लाभकारी गुणों से भरपूर है।

खीरा

यह एक ऐसा घरेलू उपचार है, जिसे सालों से मेरे खुद के घर में इस्तेमाल किया जाता है। जब भी आपको एसिडिटी या हार्टबर्न की समस्या हो तो ऐसे में आप बस खीरे को छिलकर काट लें। इसके सेवन से आपको तुरंत आराम होगा।

छाछ

छाछ में लैक्टिक एसिड होता है जो पेट में एसिडिटी को सामान्य करता है। इसलिए अगर आपको एसिडिटी की समस्या हो रही हैं तो ऐसे में आप छाछ का सेवन करें। अगर आप चाहें तो इसमें एक चुटकी काली मिर्च भी मिला सकती है।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query