डाॅक्टर और हेल्थकेयर वर्कर्स सबसे पीछे

धनबाद : काेराेना से बचाव के लिए टीका लगवाने में एसएनएमएमसीएच के डाॅक्टर और हेल्थकेयर वर्कर्स सबसे पीछे हैं। यहां मंगलवार काे फिर एक बार शून्य वैक्सीनेशन हुआ। यह चाैथा माैका है जब मेडिकल काॅलेज में किसी काे एक भी टीका नहीं लगा। टुंडी और बलियापुर सीएचसी में भी किसी काे टीका नहीं लगा। आंकड़ाें के अनुसार धनबाद में 16 फरवरी तक 21716 हेल्थ केयर वर्कर्स व फ्रंटलाइन वर्कर्स काे काेराेना 19 वैक्सीन का डाेज लगा।

इसमें 21034 लाेगाें काे काेविशील्ड वैक्सीन का डाेज लगाया गया। वहीं एसएनएमएमसीएच में 15 दिन में सिर्फ 682 ने टीके लगवाए। मेेडिकल काॅलेज मेंं काेेवैक्सीन उपलब्ध कराई गई है। एसएनएमएमसीएच मेंं काेेवैक्सीन काे लेकर डाॅक्टर, कर्मियाेंं में जबरदस्त भ्रांतियां हैं। अन्य काे काेविशील्ड और मेेडिकल काॅलेेज में काेवैक्सीन से वैक्सीनेशन पर भ्रम की स्थिति है।

डॉक्टरों की अपील-भ्रम में न फंसे, टीका जरूर लगवाएं

मेरे जरिए संक्रमण फैलने का खतरा खत्म- डाॅ शैलेंद्र

एसएनएमएससीएच के प्राचार्य डाॅ शैलेंद्र कुमार ने कहा कि लाेगाें में साइड इफेक्ट हाेने व अन्य दूसरे तरह का भ्रम गलत है। वैक्सीन लेने के बाद पूरी तरह स्वस्थ हूं। वैक्सीन का डाेज लेने के बाद इस बात की संतुष्टि है कि अब मेरे माध्यम से संक्रमण परिवार व समाज में नहीं जाएगा।

सुरक्षित है वैक्सीन, साइड इफेक्ट नहीं- डाॅ आशुुताेष

​​​​​​​एसएनएमएमसीएच में ईएनटी विभाग के चिकित्सक डाॅ आशुुताेेष ने कहा कि वैक्सीन पूरी तरह सुुरक्षित है। इसका काेई साइड इफेक्ट नहींं है। मैंने तीन फरवरी काेे वैक्सीन का डाेज लिया। अब तक कुछ भी साइड इफेक्ट महसूस नहीं हुआ। वैक्सीन काेे लेकर भ्रम गलत है।

सैकड़ाें ने लिया, साइड इफेक्ट का केस नहीं- डाॅ तिग्गा

​​​​​​​मेेडिकल काॅलेज के चिकित्सक डाॅ विनीत के तिग्गा नेे कहा कि सभी मेेडिकल काॅलेज में काेवैक्सीन ही दी जा रही है। चार साै से अधिक लाेगाेें ने पहला डाेज लिया। मैंनेे भी टीका लिया। न मैंने कुछ साइड इफेक्ट महसूस किया और न ही अस्पताल में काेई केेस आया।

ट्रायल डाेज लेने वाले अंकित राजगढ़िया ने कहा- सुरक्षित है वैैक्सीन

​​​​​​​कतरास केे अंकित राजगढ़िया ने एम्स पटना में काेवैक्सीन का ट्रायल डाेज लगवाया। अंकित ने कहा कि उन्हाेंने 14 दिसंबर काे पहला व 18 जनवरी काे दूसरा ट्रायल डाेेज। इस दाैरान उन्हेें काेई साइड इफेक्ट नहींं हुआ। वे पूरी तरह स्वस्थ हैंं और काेराेना संक्रमण के भय से भी मुक्त। वैक्सीन पूूरी तरह सुुरक्षित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query