इमरजेंसी के बेड 6 गुने बढ़ेंगे, छत पर हेलीकाॅप्टर उतर सकेगा, अंडरग्राउंड मेट्रो भी होगी

पटना : राज्य के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच में 6 गुना अधिक इमरजेंसी मरीजों का एक साथ इलाज होगा। 200 नहीं 1204 इमरजेंसी मरीज एक साथ किये भर्ती होंगे। 12 तरह की आईसीयू 24 घंटे काम करेंगी। सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पीएमसीएच के पुनर्विकास परियोजना का शिलान्यास करेंगे।

बड़ी बात ये कि वार्डों में भर्ती होने वाले मरीजों के बेड तीन गुना से अधिक किये जा रहे। स्वास्थ्य विभाग की संस्था बीएमएसआईसीएल ने पीएमसीएच के डेवलपमेंट का जो खाका खिंचा है उसके मुताबिक 1754 बेड वाले पीएमसीएच को 5462 बेड वाले अस्पताल में बदला जा रहा है।

नया पीएमसीएच तीन चरणों में 7 साल में बनेगा। 5540 करोड़ की लागत से बनने वाले इस परियोजना में भवनों को भूकंपरोधी बनाया जा रहा है। इसके छत पर एयर एम्बुलेंस भी उतरेगा। अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशन भी बनाया जा रहा है।

48 एकड़ और 78 भवन में पसरा पीएमसीएच अब करीब 12 भवनों में ही सिमट जाएगा
48 एकड़ क्षेत्र में फैले पुराने पीएमसीएच में अभी 78 भवन हैं। इसकी स्थापना 1925 में हुई थी। नई परियोजना के मुताबिक अब दर्जन से ऊपर भवनों में (77.96 लाख वर्गफीट) अस्पताल सिमट जाएगा। । 3334 वाहनों के लिये पार्किंग बनाये जा रहे हैं। भविष्य की जरूरतों को देखते हुए अशोक राजपथ पर बनने वाले फ्लाईओवर और लोकनायक गंगा पथ यानी पीएमसीएच में दो तरफ से मरीजों को तेजी से पहुंचने की व्यवस्था की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query