हरे सेब का जूस है डायबिटीज़ मरीज के लिए फायदेमंद

जूस पीने पर अक्सर प्रतिबंध लगा दिया जाता है क्योंकि मधुमेह रोगियों में शुगर का स्तर अधिक होता है। लेकिन यह स्वस्थ रस कुछ मधुमेह रोगियों के लिए ही है। डायबिटीज़ को कम करने के लिए ग्रीन जूस बेहद फ़ायदेमंद है।

आजकल डायबिटीज़ एक आम बीमारी है। भारत में लगभग हर तीसरा व्यक्ति इसका रोगी है। भागदौड़ के इस समय में हमारे गलत आहार और तरीकों के कारण कई लोग टाइप-2 मधुमेह से पीड़ित हैं। भारत में लगभग 70 मिलियन लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं। यही कारण है कि भारत को दुनिया की मधुमेह राजधानी के रूप में भी जाना जाता है।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि हरे सेब से बना जूस एक ऐसा हेल्दी जूस है जिसे पीने से सिर्फ मधुमेह ही नियंत्रित नहीं होता है, बल्कि यह हमारे शरीर को साफ करता है और हमें कई बीमारियों से भी बचाता है।

जूस पीने पर अक्सर प्रतिबंध लगा दिया जाता है क्योंकि मधुमेह रोगियों में शुगर का स्तर अधिक होता है। लेकिन यह स्वस्थ रस कुछ मधुमेह रोगियों के लिए ही है। डायबिटीज़ को कम करने के लिए ग्रीन जूस बेहद फ़ायदेमंद है। यह रस सभी प्रकार के मधुमेह के रोगियों के लिए समान रूप से फ़ायदेमंद है, जैसे कि टाइप-1, टाइप -2 और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल मधुमेह।

कैसे बनाएं ये हेल्दी जूस

इस जूस को बनाने के लिए आप हरे सेब, खीरा, नींबू, केल, हरी गोभी, अजवाइन, पालक, चुकंदर, लहसुन, टमाटर, अदरक और करेले जैसे चार-पांच सामग्रियों का उपयोग कर सकते हैं। सभी सामग्रियों को बारीक काट लें और अपनी ज़रूरतों के अनुसार अच्छी तरह से मिलाएँ। आपका हेल्दी जूस तैयार है।

अपने ग्रीन जूस में फल या चीनी को शामिल करने से बचें, क्योंकि चीनी सूजन पैदा करती है और आपके पाचन को नुकसान पहुंचा सकती है, जो कि हरे रंग के रस के बिल्कुल विपरीत हैं जो आप चाहते हैं। सेब और नाशपाती अद्भुत एंजाइम और पोषक तत्वों से भरे हुए होते हैं, लेकिन आपके रस में बहुत अधिक शुगर जोड़ सकते हैं।

नोट- नींबू या नींबू के छिलके को कभी भी जूसर में न डालें, क्योंकि यह आवश्यक तेलों को बहुत अधिक कंसंट्रेट करता है और आपके पेट को नुकसान पहुंचा सकता है।

ग्रीन जूस के स्वास्थ लाभ-

1. यह है विटामिन से भरपूर: हरे सेब, ककड़ी, नींबू, पालक, करेला, टमाटर और लहसुन जैसी स्वस्थ सामग्री से बना यह जूस विटामिन-ए, विटामिन-सी, विटामिन-के और आयरन का बेहतरीन स्रोत है।

2. एनर्जी बढ़ाता है: एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर यह हरे रंग का जूस हमें कई हानिकारक बीमारियों से बचाता है। साथ ही यह जूस हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है और पूरे दिन हमारी एनर्जी को बढ़ाता है। यह रस हमारे शरीर की मेटाबॉलिज़्म दर को भी बनाए रखता है।

3. ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है: यह स्वस्थ रस न केवल मधुमेह के रोगियों के लिए है, बल्कि उच्च रक्तचाप और कई हृदय रोगों के जोखिम को भी कम करता है।

4. रक्त को शुद्ध करता है: हम सभी जानते हैं कि करेला और चुकंदर हमारे रक्त को शुद्ध करते हैं। लेकिन यह रस एंटी-ऑक्सिडेंट से भरा हुआ है। इस कारण से यह स्वस्थ रस हमारे शरीर को डिटॉक्स करता है और हमारे रक्त को साफ करता है।

5. पाचन में सुधार लाता है: ताज़ा हरे रस में एंजाइम आपके पाचन स्वास्थ्य में सुधार करते हैं, और अधिकांश स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली का कम से कम 80% हिस्सा आपके पाचन तंत्र में रहता है।

6. आपकी त्वचा में सुधार लाता है: ग्रीन जूस में मौजूद अतिरिक्त हाइड्रेशन और आंत-हीलिंग लाभ आपकी त्वचा को सुन्दर बनाते हैं, इसे साफ़ रखते हैं और आपको अतिरिक्त चमक प्रदान करते हैं।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query