किराएदार ने फर्जी दस्तावेज से दुकान का नंबर बदलकर कब्जा कर लिया था

सूरत : किराएदार ने फर्जी दस्तावेज बनाकर दुकान पर कब्जा कर लिया था। किराएदार और तथाकथित बिल्डर के खिलाफ एंटी लैंड ग्रेबिंग एक्ट के तहत शिकायत दर्ज हुई है। जानकारी के अनुसार भटार में उमा भवन के पास जय अंबे सोसाइटी में रहने वाले भरत कुमार तलरेजा राधा कृष्णा टेक्सटाइल मार्केट में कपड़े का कारोबार करते हैं। भरत कुमार के पिता करमचंद तलरेजा ने साल 1992 में हरिओम मार्केट में दुकान खरीदी थी।

अप्रैल 2010 में वेंकटेश सोमैया वेमुला कोे किराए पर दी थी। आरोपी वेंकटेश ने फर्जी दस्तावेज बनाकर दुकान खरीदने का दावा करने लगा। वेंकटेश ने किराया देना भी बंद कर दिया। साल 2013 में भरत कुमार के पिता की मौत हो गई। इसके बाद दुकान भरत कुमार के नाम हो गई। भरत कुमार खुद को मार्केट का बिल्डर बताने वाले कांति पूनमचंद शाह के पास गया।

कांति शाह ने वेंकटेश से किराया दिलवाने का भरोसा दिया था। इसके बाद भी आरोपी किराया नहीं दे रहा था। भरत कुमार किराया मांगने गया तो धमकी देने गया। आरोपी ने फर्जी दस्तावेज बनाकर दुकान का नंबर भी बदल दिया था। मनपा में भी नाम दर्ज करवा लिया था। भरत कुमार ने बिल्डर और वेंकटेश के खिलाफ सलाबतपुरा थाने में एंटी लैंड ग्रेबिंग एक्ट के तहत शिकायत दर्ज कराई है।

शिकायत दर्ज होने पर अमरोली पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया
एंटी लैंड ग्रेबिंग एक्ट में अमरोली पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। अमरोली के भरथाणा में रहने वाली दर्शनाबेन नायक की मालिकी की जमीन फर्जी पावर ऑफ अटॉर्नी बनाकर आरोपी विक्रम भास्कर नायक (उम्र-53, निवासी-जमालपोर, नवसारी) ने अपने नाम कर ली थी।

दर्शनाबेन नायक परिवार के साथ विदेश में रहती हैं। आरोपी विक्रम ने पावर ऑफ अटॉनी में फर्जी फोटाे लगाकर उसे मूल मालिक बताया था। दर्शनाबेन को महेश नायक की पत्नी बताया था। जमीन हड़पने की खबर मिलने के बाद दर्शनाबेन ने केतन देसाई को पावर ऑफ अटॉर्नी बनाकर दिया था। जिसके आधार पर केतन देसाई ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने आरोपी विक्रम भास्कर नाय को गिरफ्तार कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query