यूपीए के हफीजुल हसन और एनडीए के राज पलिवार में कड़े मुकाबले की संभावना

रांची : मधुपुर सीट के लिए उपचुनाव की घोषणा निर्वाचन आयोग सोमवार को कर सकता है। इस सीट पर मतदान कराने की प्रशासनिक तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है। उल्लेखनीय है कि 2019 के झारखंड विधानसभा चुनाव में मधुपुर सीट से झामुमो प्रत्याशी हाजी हुसैन अंसारी ने जीत दर्ज की थी। हेमंत सरकार में वे अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री बने थे। कोरोना संक्रमित होने के बाद वे ठीक भी हो गए थे, लेकिन तीन अक्टूबर-2020 को उनका निधन हो गया था। उसके बाद से यह सीट खाली है। 2 अप्रैल को सीट खाली रहने की छह माह की अवधि पूरी जाएगी।

मधुपुर उपचुनाव में हाजी हुसैन अंसारी के पुत्र और पर्यटन मंत्री और हफीजुल हसन यूपीए के प्रत्याशी हो सकते हैं। झामुमो, कांग्रेस और राजद की ओर से इन्हें संयुक्त प्रत्याशी बनाना लगभग तय है। वहीं भाजपा-आजसू में भी संयुक्त उम्मीदवार देने पर सहमति बन रही है। पार्टी सूत्रों से मिल रही सूचना के अनुसार, वर्ष 2019 के विस चुनाव में इस सीट से दूसरे नंबर पर रहे भाजपा प्रत्याशी राज पलिवार को एनडीए उम्मीदवार बनाने की संभावना है। ऐसे में हफीजुल व पलिवार में कड़े मुकाबले के आसार हैं।

इसलिए एनडीए से राज पलिवार की दावेदारी मजबूत

1 मजबूत गठबंधन के लिए भाजपा-आजसू आलाकमान स्तर पर वार्ता हो रही है। इसके अनुसार, 2022 में खाली होने वाली राज्यसभा सीट आजसू को दी जाए। ताकि आजसू की राज्यसभा में भी उपस्थिति बने। इस प्रस्ताव पर आजसू मधुपुर में भाजपा प्रत्याशी राज पलिवार को समर्थन देने पर सहमत हो सकता है।

2 पिछले चुनाव में भाजपा के राज पलिवार को 65046 और आजसू प्रत्याशी गंगा नारायण राय को 45620 वोट मिले थे। झामुमो के हाजी हुसैन अंसारी को 88115 वोट मिले थे। अलग-अलग चुनाव लड़े भाजपा व आजसू प्रत्याशियों के वोट जोड़े जाएं तो 110666 वोट होते हैं,जो हाजी हुसैन से 22551 वोट अधिक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Become a Journalist
Feedback/Query